कैसे रख सकते हैं आंखों का ख्याल,


आंखों की देखभाल

दुनिया की तमाम रंगीनियां, रौनक और खूबसूरती तभी तक है, जब तक कि ये आंखें सलामत हैं, इसलिए आंखों को स्वास्थ्य और सौंदर्य का आईना माना गया है। खूबसूरत आंखों को पाने के लिए लापरवाही से बचना होगा और इनकी सुरक्षा करनी होगी। आप अपनी आंखों की सही प्रकार से देखभाल करें और आंखों के मेकअप के सही तरीके की जानें तो आप खुद महसूस करने लगेंगी कि आपकी आंखों को नया जीवन मिल गया है |

आंखों की आम समस्याओं के लिए कुछ आसान उपाय

सप्ताह में एक या दो बार आंखों को आई लोशन, त्रिफला या गुलाबजल से साफ कीजिए। इनसे आंखों में पड़ी धूल-मिट्टी व कीटाणु तो साफ होंगे ही, साथ ही आंखों की चमक भी बढ़ेगी।

खूबसूरत आंखों के लिए धूप में जाते समय चश्मा जरूर पहन लें और हो सके तो छतरी का भी प्रयोग करें।

टी.वी. बहुत देर तक नहीं देखें और हमेशा दूर से बैठ कर ही देखें। यदि कंप्यूटर पर कार्य करते हैं, तो एंटी ग्लैयर चश्मे का प्रयोग जरूर कीजिए।

देर रात तक जागने और सुबह देर तक सोते रहने का भी आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए समय पर सोएं और 6-8 घंटे की नींद जस्टर लें। 

खूबसूरत आंखों को बनाए रखने के लिए लगातार काम न करें। बीच-बीच में आंखों को बंद करके उन पर दोनों हाथों की हथेलियां रखकर कुछ मिनट तक विश्राम देते रहें।

खीरे को कद्दूकस कर आखों पर रखें एवं आराम से लेट जाएं। कुछ ही देर में आंखों की थकान कम महसूस होगी।

कच्चे आलू के रस में रुई भिगोकर लगाने से आंखों के नीचे का कालापन दूर हो जाता है।

सुबह के समय हरी घास पर नंगे पांव चलने व हरियाली देखने से भी आंखों को बहुत आराम पहुंचता है।

ये तमाम बातें आपसे इसलिए कह रही हूं कि हमारी सुंदरता में हमारी आंखों का काफी अहम रोल होता है। आंखें कुदरत के दिए वे दो नगीने हैं, जिनसे हमारी खूबसूरती को एक आयाम मिलता है।

आंखों की देखभाल के लिए प्रतिदिन कुछ सेकंड के लिए अपनी आंखों के कोनों, माथे पर दबाव डालें। इससे आपको आराम महसूस होगा। आँखों की देखभाल के लिए यह अच्छा व्यायाम है |

आंखों की देखभाल के लिए भोजन में विटामिन ‘ए’ युक्त पदार्थ लेने चाहिए, जैसे हरी पतेदार सब्जियां, गाजर, पपीता, दूध। शरीर में प्राकृतिक रूप से विटामिन ‘ए’ की पूर्ति होने से आंखों की रोशनी कम नहीं होती है।

आंखों में धूल गिरने पर आंखों को मलें नहीं, बल्कि ठंडे पानी के छींटे मारने चाहिए।

आंखों को मसलने से आंखों पर दबाव पड़ता है। यह दबाव आंखों के लिए नुक्सान दायक होता है क्योंकि ऑंखें हमारे शरीर का बहुत कोमल अंग होती है |

आंखों को धुएं से बचाएं। लंबे समय तक आंखों में निरंतर धुआं पड़ना नुकसानदेह है। धुएं वाले स्थान पर कार्य करना पड़े तो चश्मा लगाना चाहिए।

आंखों की देखभाल के लिए किसी दूसरे का रुमाल उपयोग में न लाएं। किसी दुसरे के रूमाल का उपयोग करने से संक्रमण की आशंका रहती है।

एक ही डिब्बी में रखे हुए काजल का उपयोग कई लोगों द्वारा करने पर भी संक्रमण की आशंका रहती है।

गंदे कपड़े से आंख पोंछना एवं अस्वच्छ पानी से आंख धोना उचित नहीं।

गर्म पानी से आँखों को धोना या सिर पर गर्म पानी डालकर नहाना भी आँखों के लिए हानिप्रद है।

लंबे समय का तनाव तथा अनिद्रा आंखों के लिए नुकसानदायक है।

आंखों की सुरक्षा के लिए तनाव से बचना चाहिए तथा गहरी नींद सोने का पूरा प्रयास करना चाहिए।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s