कोरोना काल में ऐसे करें खुद की देखभाल


हम सभी जानते हैं कि रोकथाम इलाज से बेहतर है. चूंकि अब तक कोविड-19 (Covid-19) के लिए कोई दवा नहीं है, ऐसे समय में निवारक उपाय करना अच्छा रहेगा जिससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी |

1.पूरे दिन गर्म पानी (Hot Water) पीजिए.

2. प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और ध्‍यान का अभ्यास करें.

3. खाना पकाने में हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है.

इम्युनिटी बूस्टिंग में ये चीजें हैं लाभकारी

सुबह 10 ग्राम यानी एक चम्मच च्यवनप्राश का सेवन करना शामिल है। यदि आपको मधुमेह है तो शुगर फ्री च्यवनप्राश का सेवन कर सकते हैं।

गोल्डेन मिल्क अर्थात हल्दी दूध का मिश्रम। 150 मिलीलीटर गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर दिन में एक या दो बार पीएं।

तुलसी, दालचीनीए, काली मिर्च, सूखी अदरख और मुनक्का से बनी हर्बल चाय या काढ़ा दिन में एक या दो बार पीएं।

सरल आयुर्वेदिक प्रक्रियाएं

1.नाक का अनुप्रयोग – सुबह और शाम नाक के नथुनों में (प्रतिमार्ष नास्य) तिल का तेल/ नारियल का तेल (coconut oil) या घी लगाएं.

2.ऑयल पुलिंग थेरेपी- एक चम्‍मच तिल या नारियल का तेल मुंह में लीजिए. उसे पिएं नहीं बल्कि 2 से 3 मिनट तक मुंह में घुमाएं और फिर थूक दें. उसके बाद गर्म पानी से कुल्ला करें. ऐसा दिन में एक या दो बार किया जा सकता है |

सूखी खांसी/ गले में खराश के दौरान की प्रक्रिया

1.पुदीने के ताजे पत्तों या अजवाईन के साथ दिन में एक बार भाप (Steam) लिया जा सकता है.

2.खांसी या गले में जलन होने पर लवांग (लौंग) पाउडर को गुड़/ शहद के साथ मिलाकर दिन में 2 से 3 बार लिया जा सकता है.

3.ये उपाय आमतौर पर सामान्य सूखी खांसी और गले में खराश को ठीक करते हैं. हालांकि अगर ये लक्षण बरकरार रहते हैं तो डॉक्‍टर (Doctor) से परामर्श लेना बेहतर होगा.

विटामिन सी : रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली चीजों में विटामिन सी का नाम प्रमुखता से आता है। विटामिन सी सबसे ज्यादा खट्टे फलों में मौजूद होता है जैसे संतरा, मौसमी, किन्नू, स्ट्रॉबेरी, जामुन, नींबू और आंवला। विटामिन सी शरीर में श्वेत रक्त कोशिका को बनाता है जो कि इंफेक्शन से लड़ने में शरीर की मदद करता है। –

हल्दी: हल्दी के बारे में तो जानते ही हैं कि आपकी रसोई में इससे बढि़या कोई दवा नहीं है। हल्दी को दर्द निवारक भी कहा जाता है, इसीलिए चोट लगने पर हल्दी और चूने का लेप लगाया जाता है। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए हल्दी का सेवन नियमित रूप से करें।

अदरक : अदरक एक गर्म खाद्य पदार्थ है। कफ और खांसी के इलाज में इसे रामबाण कहा गया है। अदरक का सेवन आपको इंफेक्शन और फ्लू से बचाता है। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए अदरक का सेवन सब्जी, चाय, काढ़ा आदि के रूप में कर सकते हैं। अदरक कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखता है और पुराने दर्द में भी काम करता है।

लहसुन: लहसुन को तामसी भोजन में शामिल किया गया है लेकिन यह एक औषधि है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में लहसुन काफी मददगार है। नेशनल सेंटर फॉर कॉम्पि्लमेंटरी एंड इंटीग्रेटिव हेल्थट्रस्टेड के अनुसार लहसुन निम्न रक्तचाप और धमनियों को सख्त बनाने में मदद करता है। लहसुन में एलिसिन पाया जाता हो जो कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए जाना जाता है। –

पालक : पालक आपको सब्जी की  किसी भी दुकान पर मिल जाएगा। पालक विटामिन सी का सबसे बड़ा स्त्रोत है। इसमें कई तरह के एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली की संक्रमण से लड़ने की क्षमता को बढ़ाते हैं। पालक को धीमी आंच पर पकाना चाहिए, नहीं तो इसमें मौजूद पोषकतत्व नष्ट हो जाएंगे।


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s