सोशल प्लेटफार्म का पक्षपात पूर्ण रवैया


फेसबुक , ट्विटर ,इन्सटाग्राम ,व्हाट्सएप ये सब जाने मने सोशल मीडिया प्लेटफार्म हैं | जितने आवश्यक है उतने ही अनावश्यक या जितने मददगार है उतने ही हानिकारक भी |

नकारात्मक पत्रकारिता और समाज


आज के व्यावसायिक युग में मीडिया में आई व्यावसायिकता स्वार्थपरता और संविधान की आड़ में सामाजिक बंटवारे के लिए चलाये जाने वाले एजेंडा के कारण पत्रकारिता को संविधान का चौथा स्तंभ कहना बेईमानी है | इस परिस्थिति में सरकार को इस विषय पर गाइडलाइन्स लानी चाहिए साथ ही मीडिया चैनल की गतिविधियों को भी कानून…